• Sat, 13 Jul, 2024
हाथरस की भगदड़ में नया खुलासा: पांच फोन नंबर साबित होंगे अहम कड़ी? हादसे के बाद इनसे बाबा को की गईं 20 कॉल्स

राज्य

Updated Fri, 5 Jul 2024 5:15 IST

हाथरस की भगदड़ में नया खुलासा: पांच फोन नंबर साबित होंगे अहम कड़ी? हादसे के बाद इनसे बाबा को की गईं 20 कॉल्स

 हादसे के बाद पांच नंबरों से बाबा को 20 कॉल किए गए हैं। मुख्य आयोजक सहित उसके पांच सहयोगियों ने भोले बाबा उर्फ सूरजपाल को एक-एक घटनाक्रम की जानकारी दी है। माना जा रहा है कि फिर बाबा से निर्देश प्राप्त होने पर ही सभी ने भूमिगत होने का कदम उठाया है।

पुलिस की एसओजी टीमों ने बुधवार से मुख्य आयोजक व अन्य की गिरफ्तारी के लिए अभियान तेज किया। जब इनकी लोकेशन जानने के लिए इनके मोबाइल नंबरों पर काम शुरू किया तो पाया कि मुख्य आयोजक सहित पांच नंबर ऐसे हैं, जिन्होंने हादसे के बाद तत्काल एक ही नंबर पर लगातार 20 बार कॉल किया है। फिर वे पांचों नंबर बंद हो गए हैं।
जिस नंबर पर कॉल किया गया है। वह जांच में बाबा का पाया गया है। इसके बाद से ही माना जा रहा है कि बाबा को इन लोगों ने पूरी जानकारी दी है। माना जा रहा है कि बाबा ने उन्हें शायद छिपने के ठिकाने भी बताए हों। यह भी बताया हो कि किन-किन लोगों को जरूरी तौर पर हाथ नहीं आना है। हालांकि इन तमाम सवालों के जवाब इनकी गिरफ्तारी के बाद ही मिलेंगे।

 

जांच में नाम आने पर होगी बाबा से पूछताछ: आईजी
आईजी शलभ माथुर ने कहा कि जांच का दायरा बढ़ता जा रहा है। जो भी तथ्य जांच में सामने आ रहे हैं, उसके अनुसार कार्रवाई की जा रही है। जांच में नाम सामने आने पर भोले बाबा से पूछताछ की जा सकती है। मुकदमे की विवेचना सीओ हाथरस रामप्रवेश राय को सौंपी गई है। 

 

जैसे-जैसे नाम सामने आ रहे... वैसे लोगों से की जा रही पूछताछ
इंस्पेक्टर कोतवाली हाथरस विजय कुमार को सहयोगी विवेचक बनाया गया है। पुलिस लाइन में मीडिया के सवालों पर उन्होंने कहा कि हादसे की जांच चल रही है। शुरुआती जांच में एक नामजद आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है, जिसकी तलाश जारी है। इनाम भी घोषित किया गया है। जैसे-जैसे नाम सामने आ रहे हैं। उन लोगों से पूछताछ की जा रही है। गिरफ्तारी भी की जा रही है। अगर बाबा का नाम सामने आया तो उससे भी पूछताछ की जाएगी।

 

सेवादार कह रहे थे...बाबा का नाम पुकारो
सत्संग खत्म होने के बाद जब एक लाख की भीड़ पंडाल से निकलकर हाईवे की तरफ बढ़ी तब भीड़ के दबाव में बुजुर्ग महिलाओं को सांस लेने में तकलीफ होने लगी थी। इसी दौरान भगदड़ मच गई तो यह महिलाएं भीड़ में फंस गई और मदद के लिए पुकारने लगीं। यहां मौजूद सेवादार इन महिलाओं को भीड़ से सुरक्षित निकालने की बजाए कहने लगे....कुछ नहीं होगा, नारायण साकार हरि पुकारो। बाबा मदद करेंगे। अस्पतालों में भर्ती रहीं महिलाओं ने पुलिस की जांच में यह बयान दर्ज कराए हैं।

 

सत्संग में एक लाख से अधिक भीड़ पहुंची थी
सिकंदराराऊ के फुलरई मुगलगढ़ी गांव में 2 जुलाई को आयोजित भोले बाबा के सत्संग में एक लाख से अधिक भीड़ पहुंची थी। प्रशासन का जो मानना है उसके मुताबिक 50 हजार से ज्यादा भीड़ महिलाओं की थी। सत्संग भले ही 12 बजे से शुरू हुआ था लेकिन दूरदराज से पहुंची महिलाएं सुबह को 7 बजे से ही पंडाल में पहुंच गईं थीं। उस वक्त गर्मी बहुत थी और उमस से यहां मौजूद लोग परेशान हो रहे थे। दोपहर को जब सत्संग खत्म हुआ तो महिलाएं जाने लगीं।

Latest news