BREAK NEWS

UP:शासन स्तर पर चली रही तैयारी, निजी अस्पतालों में शुरू हो कोरोना का इलाज

UP:शासन स्तर पर चली रही तैयारी, निजी अस्पतालों में शुरू हो कोरोना का इलाज

कोरोना संक्रमण से लोगों की जान बचाने के लिए निजी अस्पतालों में भी इलाज की व्यवस्था शुरू करनी होगी। जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग निजी अस्पतालों के समूह बनाए और फिर अपनी निगरानी में वहां इलाज शुरू कराएं। इससे संसाधनों में कई गुना तक बढ़ोतरी हो जाएगी और भविष्य में संक्रमण के मामले बढ़ने पर स्थिति भी नियंत्रण से बाहर नहीं जाएगी।

केजीएमयू लखनऊ के पल्मोनरी व क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष व प्रदेश सरकार द्वारा नामित विशेष कार्याधिकारी डॉ वेद प्रकाश ने बुधवार को दैनिक जागरण से बातचीत के दौरान यह कहा। उन्होंने कहा कि शासन स्तर पर इस व्यवस्था को पूरे प्रदेश में लागू करने की तैयारी चल रही है। डॉ वेद प्रकाश ने इससे पहले गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी सुहास एल वाई से इस संबंध में मंत्रणा भी की और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को अपने फार्मूले के बारे में अवगत कराया।

इस तरह काम करेंगे निजी अस्पताल-

जिले के निजी अस्पतालों का डाटा स्वास्थ्य विभाग तैयार करे और फिर उन्हें समूह में बांट दे।
समूह के सबसे बड़े अस्पताल में कोविड टे¨स्टग सेंटर और इलाज की व्यवस्था शुरू की जाए। – अन्य अस्पतालों में कोविड से अलग बीमारियों का इलाज शुरू किया जाए।
किसी एक नॉन कोविड अस्पताल में कोविड का संभावित मरीज मिलने पर उसे तुरंत कोविड अस्पताल रेफर किया जाए।
संक्रमण मिलने वाले नॉन कोविड अस्पताल में समूह से जुड़े दूसरे अस्पतालों के चिकित्सक सेवा दें, इससे अस्पताल बंद नहीं होगा और चिकित्सकों की कमी नहीं रहेगी।
निजी अस्पतालों में कोरोना संक्रमण टेस्टिंग की प्रक्रिया तेज की जाए, निगरानी स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन करे।

डॉ वेद प्रकाश ने बताया कि संक्रमण काल के इस समय में सेल्फ आइसोलेशन ही सबसे बेहतर उपाय है। घर से बाहर निकलते समय शारीरिक दूरी का पालन करें और घर पहुंचने पर खुद को सेल्फ आइसोलेशन में रखें। हो सके तो घर से बाहर के अधिकांश काम एक ही व्यक्ति करे और अपने आपको सैनिटाइज करते रहें। उन्होंने कहा बच्चों, गर्भवती महिलाओं, बुजुर्गों और बीमार व्यक्तियों के संपर्क में वे लोग न आएं जो घरों से बाहर निकलकर काम करते हैं। अगर इस पर नियंत्रण कर लिया तो कोरोना पर काफी हद तक जीत तय हो जाएगी।

पीजीआइ, जिम्स, और शारदा अस्पताल में किया निरीक्षण-
बुधवार को डॉ वेदप्रकाश ने पहले स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन और जिले के प्रमुख अस्पतालों के निदेशकों व आइएमए पदाधिकारियों के साथ बैठकर कर संक्रमण से बचाव को लेकर रणनीति बनाई और फिर शाम को पीजीआइ, शारदा अस्पताल, और जिम्स में कोरोना पीड़ितों के इलाज की व्यवस्थाओं को भी परखा और आवश्यक सुविधाएं बढ़ाने के दिशा निर्देश दिए।

UPDATE BY : ANKITA

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )