BREAK NEWS

TikTok कर्मचारियों को सता रहा नौकरी जाने का डर

TikTok कर्मचारियों को सता रहा नौकरी जाने का डर

आप सभी को पता होगा की करोड़ो की संख्या में लोग टिकटोक देखना या बनाना पसंद करते थे कुछ लोग ऐसे भी है जिन्हे टिकटोक का नाम भी पसंद नहीं और भारत सरकार ने 29 जून को 59 एप्स पर प्रतिबंध लगा दिया। प्रतिबंध के बाद से भारत के टिकटॉकर्स और हेलो एप यूजर्स काफी परेशान नजर आए।

इसके अगले ही दिन यानी 30 जून को प्ले स्टोर और एपल स्टोर से भी एप को हटा दिया गया। इस प्रतिबंध पर टिकटॉक इंडिया ने ट्वीट करके कहा है कि सरकार द्वारा लगाया गया यह बैन अस्थायी है और वह सरकार के साथ इस मसले पर बात कर रही है। 

इस संदर्भ में टिकटॉक इंडिया के प्रमुख निखिल गांधी ने कहा था कि, ‘सरकार ने 59 एप्स पर अंतरिम प्रतिबंध लगाया है जिनमें टिकटॉक भी शामिल है। हम इस प्रतिबंध के लिए सरकार से जल्द ही बात करने वाले हैं। टिकटॉक हमेशा की तरह डाटा और प्राइवेसी की सुरक्षा को लेकर प्रतिबद्ध है। हम भारतीय यूजर्स का डाटा चीनी या किसी अन्य सरकार के साथ साझा नही करते हैं।’

लेकिन कर्मचारियों को सता रहा है सैलरी का डर एक कर्मचारी ने कहा कि उनकी सैलरी स्लिप हर महीने के आखिरी दिन से एक दिन पहले जेनरेट हो जाती है और महीने के आखिरी दिन सुबह सात से नौ बजे के बीच सैलरी का मैसेज आ जाता है। लेकिन जून में 29 जून को सैलरी स्लिप जेनरेट तो हुई, लेकिन 30 जून को सुबह सैलरी का मैसेज नहीं आया। सैलरी ना आने पर कर्मचारियों को लगा कि एप पर लगाए गए प्रतिबंध की वजह से उनकी नौकरी संकट में पड़ गई है। लेकिन बाद में अगले दिन दोपहर में सैलरी का मैसेज आ गया और उन्हें राहत मिली।

लेकिन टिकटॉक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) केविन मेयर ने अपने भारतीय कर्मचारियों को आश्वासन दिया है और कहा है कि हमारे कर्मचारी हमारी सबसे बड़ी ताकत हैं। उनकी भलाई हमारी प्राथमिकता है। हमने 2,000 से अधिक कर्मचारियों को भी आश्वस्त किया है कि हम सकारात्मक अनुभव और अवसरों को बहाल करने के लिए जो भी हमारे लिए संभव होगा हम करेंगे।

भारत दुनिया के उन सबसे शक्तिशाली देशों में से एक है, जहां हर वर्ष गूगल प्ले स्टोर से सबसे ज्यादा एप्स डाउनलोड किये जाते हैं। भारत में 2018 में सबसे ज्यादा डाउनलोड किये जाने वाले एप्स में 44 चीन में ही बनाये गये थे। इसमें वीगो लाइट, यूसी  ब्राउसर और लाइव चैट शामिल थे। दिसंबर 2017 में भारत में आठ सबसे ज्यादा प्रचलित चीनी एप्स टॉप 100 एप्स की लिस्ट में शामिल थे।

UPDATE BY : ANKITA

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )