BREAK NEWS

बहराइच स्थित क्षत्रिय सम्राट महाराजा सुहेलदेव बैस स्मारक के कपाट दर्शनार्थ खोले गए।

बहराइच/ चितौरा :  दिन मंगलवार को बहराइच जनपद के चितौरा विकासखंड में स्थित क्षत्रिय सम्राट महाराजा सुहेलदेव बैस स्मारक के कपाट श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अथक प्रयास व सानिध्य में पूजा अर्चना करने के पश्चात भक्तों तथा दर्शनार्थियों के लिए खोल दिए गए।

 

 

यह वह पवित्र कार्य था जिसके लिए समस्त क्षत्रिय समाज बहुत दिनों से इंतजार कर रहा था व इसके लिए उत्साहित भी था इस मौके पर बहराइच स्थित पयागपुर राजघराने के आदरणीय युवराज महाराज यशवेंद्र विक्रम सिंह ज़ी तथा श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह रघुवंशी ज़ी प्रदेश कार्यकारिणी के तमाम सदस्यों के साथ बहराइच के प्रभारी श्री सूरज सिंह त्रिलोक चंदी जी भी मौजूद रहे कपाट खोलकर स्मारक में स्थित महाराजा सुहेलदेव बैस जी की प्रतिमा का माल्यार्पण करने के पश्चात श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना की ओर से जारी वक्तव्य में कहा गया कि आज का दिन छत्रिय महाराजा सुहेलदेव बैस जी के प्रति आस्था रखने वालों के लिए शुभ दिन था ओरिया दिन और तारीख इतिहास में हमेशा याद रखे जाएंगे क्योंकि महाराजा सुहेलदेव बैस के नाम पर हमेशा से ही ओछी राजनीति की गई और उनकी जात ही बदल दी गई चितौरा झील वह स्थान है जहां पर महाराजा सुहेलदेव बैस जी द्वारा सैयद सालार मसूद गाजी जैसे आक्रांता को मारकर सनातन धर्म की रक्षा की गई और इस राक्षस के कुकृत्य से त्राहि-त्राहि कर रही जनता को मुक्ति दिलाई गई परंतु वोट बैंक की राजनीति करने वालों के हाथों इतिहास से लगातार छेड़छाड़ करके महाराजा सुहेलदेव बैस जी की जाति बदलने की कोशिश की जाती रही है लेकिन आज उन्हें मूल वर्ण में लाने का कार्य संपन्न किया गया है आज पयागपुर स्टेट के महाराज यशवेंद्र विक्रम सिंह जी की उपस्थिति में यह कार्य संपन्न हुआ है यह वही महाराज है और उसी राजघराने से ताल्लुक रखते हैं जिनके पूर्वजों ने क्षत्रिय महाराजा सुहेलदेव बैस जी की पुण्य स्मृति में मंदिर का निर्माण कराया था और महंत सोनिया सिंह ने अपनी स्वयं की उपस्थिति में पूजा पाठ का कार्य संपन्न करवाया था वक्तव्य के अंत में श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष श्री राकेश सिंह रघुवंशी द्वारा कहा गया क़ि उत्तर प्रदेश में राजा सुहेलदेव बैस जी पर राजनीति बंद होनी चाहिए उनके जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए महाराज सुहेलदेव सर्व समाज के रक्षक थे उनके प्रति आस्था रखना कोई बुरी बात नहीं है परंतु उनकी जाति बचाने के लिए कुछ भी करने को तैयार है।

ब्यूरो रिपोर्ट : अरुणेन्द्र प्रताप सिंह

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (2 )