BREAK NEWS

विकास दुबे पर मेहरबान लोगों का कच्चा चिट्ठा खोलेगी SIT

विकास दुबे पर मेहरबान लोगों का कच्चा चिट्ठा खोलेगी SIT

दुर्दांत हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद अब इस मामले की जांच कर रही एसआइटी की निगाहें उसकी मदद करने वाले सभी अफसरों के साथ राजनीतिक आकाओं पर भी है। बेहद सख्त माने जाने वाले अपर मुख्य सचिव संजय आर भूसरेड्डी के नेतृत्व में गठित स्पेशल इंवेस्टीगेशन टीम(एसआइटी) ने तैनाती होने के अगले ही दिन कानपुर के चौबेपुर के बिकरू गांव जाकर छानबीन शुरू कर दी है। एसआइटी को अपनी जांच रिपोर्ट 31 जुलाई तक देनी है। इसके तहत पहले ही दिन 50-55 लोगों से पूछताछ की गई है।

कानपुर के चौबेपुर के बिकरू गांव में दो-तीन जुलाई की रात में सीओ सहित आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में मुख्य आरोपित विकास दुबे की मदद करने वाले चौबेपुर के तत्कालीन थाना प्रभारी विनय तिवारी के साथ क्षेत्र के दारोगा केके शर्मा तो जेल में हैं। अब बारी विकास दुबे के अन्य मददगार अधिकारियों के साथ उसको राजनीतिक शरण देने वालों की है। अपर मुख्य सचिव संजय आर. भूसरेड्डी की अध्यक्षता में गठित तीन सदस्यीय एसआईटी ने पहले ही दिन ही अपने तेवरों से जाहिर कर दिया कि काले कारोबार को चलाने वाले गैंगस्टर विकास दुबे पर मेहरबान रहे अफसरों पर शामत आने वाली है। अपर मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी की अध्यक्षता में एसआईटी का गठन किया गया है। इसमें अपर पुलिस महानिदेशक हरिराम शर्मा और पुलिस उप महानिरीक्षक जे रवींद्र गौड़ एसआईटी के सदस्य हैं। इनसे शासन ने 31 जुलाई तक जांच रिपोर्ट तलब की है।

UPDATE BY : ANKITA

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )