BREAK NEWS

राहुल गाँधी ने PM मोदी को लिखा पत्र कहा COVID19 की जंग में है साथ

राहुल गाँधी ने PM मोदी को लिखा पत्र कहा COVID19 की जंग में है साथ

राहुल गांधी ने कहा कि हमारी प्राथमिकता बुजुर्गों को वायरस से बचाने और उन्हें अलग-थलग रखने तथा युवाओं से मजबूती के संपर्क साधने की होनी चाहिए ताकि वह बुजुर्गों से दूर रहें. उन्होंने कहा कि भारत में लाखों की संख्या में बुजुर्ग गांवों में रहते हैं. पूर्णरूप से बंदी और आर्थिक गतिविधियों के रूक जाने से लाखों युवा बेरोजगार हो जाएंगे और वापस अपने गावों की ओर जाने लगेंगे. इससे उनके अपने परिवारों और गांवों में रह रहे बुजुर्ग आबादी को संक्रमित करने का खतरा बढ़ जाएगा. जिससे भारी संख्या में लोगों की जान खतरे में पड़ जाएगी.

कोरोनावायरस संकट के बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर कोविड-19 पर अपने सुझाव दिए हैं. राहुल गांधी ने कहा कि हम कोरोनावायरस से लड़ने के लिए और उससे उपजी चुनौतियों से निपटने के लिए सरकार के साथ खड़े हैं. उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस के प्रकोप से लड़ने के लिए सरकार जो कदम उठा रही है, उसमें सहयोग करने के लिए हम तैयार हैं. उन्होंने पत्र में लिखा, ” तेजी से फैलते हुए कोरोनावायरस ने पूरी दुनिया के देशों के देशों को त्वरित कदम उठाने के लिए मजबूर किया. फिलहाल, भारत तीन हफ्तों के लॉकडाउन के दौर से गुजर रहा है. मुझे संदेह है कि सरकार इसे और बढ़ा सकती है.

उन्होंने पीएम मोदी को लिखे पत्र में कहा, “हमारे लिए यह समझना बहुत जरूरी है कि भारत की परिस्थितियां अलग हैं. हमें कोरोनावायरस को लेकर दूसरे देशों की रणनीति से इतर कदम उठाने होंगे. हमारे देश में दिहाड़ी आमदानी पर काम करने वाले लोगों की संख्या ज्यादा है. ऐसे में एकतरफ से सारी आर्थिक गतिविधियों को बंद नहीं किया जा सकता है. आर्थिक गतिविधियों को पूरी तरह से बंद करना कोविड-19 से होने वाली मौतों की संख्या को बढ़ा देगा.

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )