BREAK NEWS

गोरखपुर के लोग आज भी नहीं भूले है मिसाइल मैन का वो दिन

गोरखपुर के लोग आज भी नहीं भूले है मिसाइल मैन का वो दिन

27 जुलाई 2015 में पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम का निधन हो गया था लेकिन यह मिसाइल मैन आज भी गोरखपुर की यादों में जीवित है। आज की राजनीति देखकर लोग उन्हें जरूर याद करते हैं। कलाम साहब हमेशा ही अपना विशेष और सर्वश्रेष्ठ देने को कहते रहे चाहे वह कोई क्षेत्र क्यों ना हो। बता दें कि गोरखपुर में पूर्व राष्ट्रपति कलाम का आना दो बार हुआ लेकिन 10 फरवरी 2011 को सेंट जोसेफ इंटर कॉलेज गोरखनाथ में बच्चों के संग संवाद शायद ही किसी को भूला।

बच्चों से संवाद करते हुए उन्होंने पूछा कि राजनीति में कौन-कौन जाना चाहता है। लेकिन इस सवाल के जवाब में बहुत कम हाथ उठे। फिर पूछा वैज्ञानिक, चिकित्सक और इंजीनियर कौन बनेगा, लगभग सभी हाथ उठ गए। कलाम साहब उस वक़्त मुस्कुराते हुए कहे कि कोई क्षेत्र ख़राब नहीं होता न ही उसको कमतर आंकना चाहिए। उन्होंने कहा कि जहां भी जाओ अपना सौ फीसद दो। लगभग दो घंटे तक चली उनकी पाठशाला में बच्चे पूरी तन्मयता से उन्हें सुनते रहे। अंत में वह मंच से नीचे उतरे और बच्चों के बीच घुल-मिल गए।

आज भले ही वह इस दुनिया में नहीं है लेकिन उनकी यादें आज भी गोरखपुर के जेहन में है। लोग याद करते हैं कि कैसे इतने बड़े पद पर रहते हुए भी, उन्हें कभी अभिमान छू नहीं पाया। वह जीवन भर बच्चों के बीच रहे और उन्हें लक्ष्य की तरफ बढ़ने के लिए प्रेरित करते रहे।

UPDATE BY : ANKITA

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (1 )