BREAK NEWS

लॉकडाउन छूट पर लोगो ने कुछ इस तरह दिए अपने सुझाव

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार शाम को अपने संबोधन में लॉकडाउन 4 का एलान करने के साथ लोगों को राहत देते हुए कुछ छूट देने की भी बात कर सकते हैं। कहा जा रहा है कि जिस तरह लगातार लॉकडाउन 1 से लेकर 3 तक छूट का दायरा बढ़ता रहा है ऐसे में लॉकडाउन-4 के एलान के साथ लोगों को दी जाने वाली छूट में इजाफा होना तय है। माना जा रहा है कि 17 मई के बाद चौथे चरण में प्रवेश करने पर लॉकडाउन में कुछ और गतिविधियों की अनुमति दी जाएगी। आइये जानते हैं कि दिल्ली वाले अपने लिए कैसी छूट और क्या राहत चाहते हैं?

नजफगढ़ निवासी भुवन शर्मा का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लॉकडाउन 4 में थोड़ी रियायत और देनी चाहिए। देश की अर्थव्यवस्था ठप हो गई है। गर्मी बढ़ गई है। लोगों को कूलर और एसी की जरूरत पड़ रही है, लेकिन न बड़ी मार्केट खुली है औऱ न घर से बाहर नहीं निकल सकते हैं। ऐसे में इनसे संबंधित दुकानों को खोलने की इजाजत मिलनी चाहिए। हालांकि, केंद्र सरकार ऐसी दुकानों को खोले जाने का एलान कर चुकी है, लेकिन न जाने क्यों दिल्ली में अब तक इस पर अमल नहीं हो रहा है।

बाहरी दिल्ली के रोहिणी इलाके की रहने वालीं दीपा नेगी की मानें तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज देश को संबोधित करेंगे। लॉक डाउन शायद अभी और बढ़े लेकिन आशा है कुछ मार्केट और दुकानें और खोलें जिससे अर्थव्यवस्था पटरी पर आए। जिन लोगों का काम बंद है उनके लिए लॉक डाउन और संकट पैदा कर रहा है। लोगों के बाहर निकलने का एक समय निश्चित कर देना चाहिए। जैसे सुबह 11 से शाम 5 तक।

उत्तर पूर्वी दिल्ली के भजनपुरा के रहने वाले लतेश भान के मुताबिक, आज प्रधानमंत्री को सुनने के लिए उत्साह और उत्सुकता दोनों ही है। उम्मीद है लॉक डाउन से सम्बंधित कुछ अच्छा सुनने को मिलेगा। मेरी तो राय है कि चाहे लॉक डाउन बढ़ जाए पर उसमें मार्केट खोलने की छूट दे देनी चाहिए। एक निश्चित समय पर पूरी सुरक्षा और नियमों के साथ पालन के साथ।

मंडोली निवासी प्रदीप कुमार का कहना है कि पूरा देश आज रात 8 बजे प्रधानमंत्री को सुनने के लिए उत्सुक है। सभी के मन मे सवाल हैं क्या लॉकडाउन बढ़ेगा। हमें घर में कई जरूरी चीजों के लिए दिक्कत हो रही है, जिसके लिए बाहर निकलना पड़ता है इसलिए लोगों के बाहर निकलने की एक समय सीमा निश्चित कर देनी चाहिए।

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (3 )