BREAK NEWS

कानपुर: टोल प्लाजा पर छपे विकास दुबे के पोस्टर

कानपुर: टोल प्लाजा पर छपे विकास दुबे के पोस्टर

आठ पुलिस कर्मियों की हत्या में शामिल रहे हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे 72 घंटे बाद भी पुलिस पकड़ से दूर है, जिसे पकड़ने के लिए 900 पुलिस जवानों की साठ टीमें लगाई गई हैं। पुलिस ने मोस्टवांटेड विकास दुबे के पोस्टर टोल प्लाजा पर चस्पा कराए हैं। पुलिस अधिकारी रोजाना बिकरू गांव पहुंच रहे और घटना में शामिल विकास समेत सभी बदमाशों का आपराधिक इतिहास खंगाल रहे हैं।

-बिकरू गांव में सीओ समेत आठ पुलिस जवानों की हत्या में अब तक की जांच में तीन पुलिस वाले मुखबरी के शक में टारगेट पर थे प्रथम दृष्टता जांच में ड्यूटी में लापरवाही किए जाने पर थाना चौबेपुर के उपनिरीक्षक कुंवर पाल और कृष्ण कुमार शर्मा तथा सिपाही राजीव को एसएसपी दिनेश कुमार पी ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। चौबेपुर थाने के 65 पुलिस कर्मियों के साथ ही शिवली शिवराजपुर व बिल्हौर थाने के 30 पुलिस कर्मियों के मोबाइल फोन जब्त किए गए हैं। आइजी मोहित अग्रवाल ने बताया कि इस प्रकरण में जो भी पुलिस कर्मी घर का भेदी निकलेगा, उसके खिलाफ अपराधियों जैसा बर्ताव किया जाएगा। उनके खिलाफ हत्या की धाराओं में मुकदमा दर्ज होगा और उन्हें जेल भेजने में भी संकोच नहीं होगा।

-हमले के दौरान बिकरू की बिजली काटने के मामले में नया मोड़ आया है। एसएसपी ने स्वीकार किया है कि कॉल किसी सिपाही ने नहीं बल्कि निलंबित थाना प्रभारी ने ही की थी-मोस्ट वांटेड हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के साथ वारदात में शामिल रहे साथी दयाशंकर अग्निहोत्री उर्फ कल्लू को पुलिस ने पूछताछ की तो उसने बताया है कि घटना से चार घंटे पहले थाने से दबिश पड़ने की सूचना मिली थी। इसके बाद विकास ने असलहों से लैस तीस शाॅर्प शूटरों को बुलवाया था।

UPDATE BY : ANKITA

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )