BREAK NEWS

Gorakhpur:स्पेशल ट्रेनों से घर पहुंचाए जाएंगे ईंट-भट्ठों पर काम करने वाले श्रमिक

Gorakhpur:स्पेशल ट्रेनों से घर पहुंचाए जाएंगे ईंट-भट्ठों पर काम करने वाले श्रमिक

ईंट-भट्ठों पर काम करने वाले श्रमिकों को श्रमिक स्पेशल ट्रेन से उनके घर पहुंचाया जाएगा। शासन के निर्देश पर जिला प्रशासन ने गोरखपुर ईंट निर्माता समिति के सहयोग से श्रमिकों की सूची बनानी शुरू कर दी है। 15 जून तक शासन को रिपोर्ट भेजनी होगी। 1750 श्रमिक पर एक स्पेशल ट्रेन चलाई जाएगी। सभी श्रमिक आरक्षित श्रेणी से जाएंगे और उसका किराया भट्ठा मालिकों को वहन करना होगा। जिले में करीब 40000 श्रमिक बाहर के हैं।

बरसात शुरू होने से पहले ईंट भट्ठों पर काम बंद हो जाते हैं। बाहर से आए श्रमिकों को उनके घर पहुंचाने की व्यवस्था भट्ठा मालिकों की ओर से की जाती है। इस वर्ष समय-समय पर बारिश होने के कारण अधिकतर भट्ठों पर इसी समय काम बंद हो चुका है। शासन की ओर से आठ जून को जिलाधिकारियों को पत्र लिखकर इन श्रमिकों को घर पहुंचाने को कहा गया है। मंगलवार से गोरखपुर ईंट निर्माता समिति के सदस्यों के सहयोग से सूची तैयार की जा रही है। सभी तहसीलों में एसडीएम इसकी निगरानी कर रहे हैं।

श्रमिकों की सूची में उनके नाम, पिता के नाम के साथ उनके राज्य का नाम व पूरा पता भी दर्ज करना होगा। पहली ट्रेन चलाने के लिए सूची तैयार कर ली गई है। यह सूची पूर्वोत्तर रेलवे के मंडल रेल प्रबंधक लखनऊ, उत्तर प्रदेश शासन, बिहार, झारखंड, उड़ीसा व छत्तीसगढ़ के लिए बनाए गए प्रभारियों को ई-मेल से भेजनी होगी।

देनी होगी यह जानकारी-
जिले में कितने मजदूर हैं, भट्ठा मालिकों ने पारिश्रमिक का भुगतान कर प्रमाण पत्र लिया या नहीं, कितनी ट्रेनों की जरूरत होगी। ट्रेन के लिए कितनी धनराशि चाहिए और भट्ठा मालिकों की ओर से ट्रेन का किराया भुगतान की स्थिति शासन को बतानी होगी।

सड़क मार्ग से भी जा रहे श्रमिक-
यह आदेश आने से पहले ही कई भट्ठा मालिक सड़क मार्ग से श्रमिकों की भेज रहे हैं। इसका खर्च भी उन्हीं की ओर से उठाया जा रहा है। ईंट निर्माता समिति के पदाधिकारियों के अनुसार करीब 30 हजार श्रमिकों को ट्रेन से भेजने की जरूरत होगी।

जिले में ईंट भट्ठों की स्थिति

कुल भट्ठे : 400

प्रति भट्ठे औसत श्रमिक : 100

कितनी श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की होगी जरूरत : करीब 17

एक ट्रेन में श्रमिकों की संख्या : 1750

ईंट भट्ठों पर काम करने वाले श्रमिकों को घर भेजने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए सूची बनाई जा रही है। सूची के अनुसार श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई जाएंगी।

UPDATE BY : ANKITA

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )