BREAK NEWS

वाराणसी के  पांच शिक्षक उठा रहे दो-दो जनपदों से वेतन,चल रहा है फर्जीवाड़ा

वाराणसी के पांच शिक्षक उठा रहे दो-दो जनपदों से वेतन,चल रहा है फर्जीवाड़ा

पैन नंबर में खेल कर दो-दो जनपदों से वेतन उठाने का प्रकरण उजागर होते ही वित्त व लेखाधिकारी ने जनपद के प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत 6600 अध्यापकों की सूची आयकर विभाग को सौंपी है। विभाग ने आयकर से अध्यापकों के पैन कार्ड नंबर का सत्यापन करने का अनुरोध किया है। साथ ही किन अध्यापकों का पैन नंबर आधार नंबर से लिंक है। आयकर विभाग से इसकी भी सूचना मांगी गई है। वहीं प्रथम चरण में छह संदिग्ध शिक्षकों के पैन नंबर की जांच पूरी कर ली गई है।

वाराणसी में 192 ऐसे अध्यापक हैं जो एक ही पैन नंबर पर दो-दो जिलों के परिषदीय विद्यालयों से वेतन उठा रहे हैं। जनपद में ऐसे छह शिक्षक चिह्नित किए गए हैं। इसमें पांच शिक्षकों की वाराणसी के अलावा अन्य जनपदों से वेतन उठाने की पुष्टि हो चुकी है। बेसिक शिक्षा विभाग इन शिक्षकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने की तैयारी में जुटा हुआ है। वहीं उन्हें बर्खास्त करने का निर्णय लिया गया है। बहरहाल शिक्षकों के विभिन्न अभिलेखों की जांच-पड़ताल से बेसिक शिक्षा विभाग में खलबली मची हुई है।

दो-दो जिलों से वेतन लेने वाले पांच शिक्षक

महात्मा यादव, पूर्व माध्यमिक विद्यालय (मुरेरी-चोलापुर) व बलिया
रेखा सिंह, पूर्व माध्यमिक विद्यालय (इमिलिया-चिरईगांव) व आजमगढ़
राकेश प्रसाद त्रिपाठी, प्राथमिक विद्यालय (साईपुर-बड़गांव) व प्रतापगढ़
प्रवीण कुमार यादव, पूर्व माध्यमिक विद्यालय (पिलखिनी-विद्यापीठ) व अमेठी
अनुराग त्रिपाठी प्राथमिक विद्यालय (देईपुर-सेवापुरी) व आंबेडकर नगर (मौखिक पुष्टि पर नोटिस)

वित्त व लेखाधिकारी अनूप मिश्रा ने बताया कि प्रारंभिक जांच में जनपद में चार शिक्षक ऐसे मिले हैं जो दो जनपदों से वेतन उठा रहे हैं। इन शिक्षकों ने वाराणसी के अलावा दूसरे जनपदों में भी मई तक वेतन लिया है। इसकी रिपोर्ट स्कूली शिक्षा के महानिदेशक विजय किरन आनंद, वित्त निदेशक, व बीएसए राकेश सिंह को भेज दी गई है ताकि ऐसे शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई की जा सके। बीएसए ने बताया कि दोनों जिलों में यह मिलान किया जाए कि कौन सही या कौन फर्जी। इसके बाद कोई कार्रवाई की जाएगी।

UPDATE BY : ANKITA

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )