BREAK NEWS

अजीब चाहत सनक में अपराधी ने की 19 विकलांगो की हत्या

अजीब चाहत सनक में अपराधी ने की 19 विकलांगो की हत्या

एक शख्स इतना सनकी था कि उसने नशे में इंसानियत की सारी हदें पार कर दी। दरअसल मामला जापान का जहां एक क्रू अपराधी को मौत की सजा सुनाई गई है। साल 2016 में एक युवक ने सातोशी युमात्सु ने चाकू से हमला कर 19 दिव्यांगों की हत्या कर दी थी। युमात्सु ने कोर्ट में अपना अपराध स्वीकार किया कि उसने मानसिक रोगियों के एक केयर सेंटर में कई लोगों पर चाकू से वार किए थे।

इस घटना को जापान के इतिहास में दूसरे विश्वयुद्ध के बाद सबसे बुरे हत्याकांडों में से एक माना जाता है। सातोशी युमात्सु ने अपने बयान में कहा कि वो इस हमले में सभी विकलांगों को मौत के घाट उतारना चाहता था। वारदात के बाद सातोशी ने खून से सना चाकू लेकर खुद को पुलिस के हवाले कर दिया था। जांच में जानकारी मिली कि उसने कुछ महीने पहले ही केयर होम की नौकरी छोड़ दी थी। इस नरसंहार के पीछे उसका मकसद था कि विकलांग लोग सिर्फ और सिर्फ मुसीबत और दुख पैदा करते हैं। ऐसा करके वो इस मुसीबत से हर किसी को छुटकारा देना चाहता था।

सातोशी युमात्सु ने 26 लोगों को चाकू से घायल किया गया था। कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि युमात्सु किसी भी तरह की दया का पात्र नहीं है। मुख्य न्यायाधीश कियोशी आनुमा ने कहा, उमात्सु ने कभी भी इस दिल दहला देने वाली हिंसा में अपना हाथ होने की बात से इनकार नहीं किया ना ही उसे अपने किए पर कोई पछतावा था, लेकिन उनके वकीलों ने उसके दोषी नहीं होने की दलील दी।

कोर्ट में बचाव पक्ष ने अपनी दलील में कहा कि सातोशी युमात्सु मारिजुआना के इस्तेमाल से मानसिक विकार का शिकार हो गया था। वहीं, अभियोजकों ने सातोशी के लिए मौत की सजा मांगी थी। सातोशी ने हत्या सहित छह आरोपों का सामना किया। उसने कथित तौर पर मुकदमे से पहले कहा कि वह फैसले के खिलाफ कोई अपील नहीं करेगा। हालांकि, उसने तर्क दिया कि उसे मौत की सजा नहीं मिलनी चाहिए।

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )