BREAK NEWS

चीनी मिल का कटोरा कहा जाने वाला पूर्वांचल की बंद चीनी मिलें

 

 

देवरियाकभी चीनी मिल का कटोरा कहा जाने वाला पूर्वांचल जनपद का देवरिया एवं कुशीनगर की बंद चीनी मिले अब तो चलाएं सरकार सनद हो कि श्रमिकों को रोजगार देकर पूर्वांचल के विकास के निमित्त अंग्रेजी शासन में दोनों जनपदों की 14 चीनी मिले लगाई गई थी जो केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार के गलत नीतियों के चलते एक-एक करके 9 चीनी मिलें बंद हो गए केवल 5 चीनी मिले हैं आज संचालित हैं विशाल गन्ना क्षेत्र के कारण दूसरे प्रदेशों में गन्ने की सप्लाई कर किसान अपने गन्ने की खपत करता है आज कोविड19 के महामारी में सरकार ने मजदूरों को वापस तो बुला लिया लेकिन अब उनके जीवन उपार्जन के लिए कोई इंतजाम नहीं किया सरकार के 20 लाख करोड़ का पैकेज में से उन्हें 20 फूटी कौड़ी भी नहीं मिली आज पूर्वांचल का श्रमिक और किसान जिन की फसलें ओलावृष्टि की भेंट चढ़ गई है तथा पहले से ही आर्थिक तंगी के शिकार आज अब दोहरी मार झेल रहा है सरकार द्वारा घोषित लघु एवं कुटीर उद्योगों को अब तक अमली जामा नहीं पहना सके श्रमिकों का रोजगार छिन गया फसलों के पैदावार घट गए गेहूं की खरीद नहीं हुई गन्ने का भुगतान बाकी है किसान और मजदूर का जरूरी काम अब रुक गए उनके बच्चों के खाने के लाले पड़ गए हैं सरकार ने आर्थिक तंगी झेल रहे किसानों को सहायता की बात तो की है जो बंद इंतजाम ई का शिकार होता जा रहा है किसान मजदूर की हालत बद से बदतर होती जा रही है ऐसी दशा में जनता में भूख और कंगाली के चलते अपराध का ग्राफ बढ़ता जा रहा है क्योंकि सरकार किसानों मजदूरों के बदौलत सत्ता में आई थी अब उनके साथ धोखा कर रही है 2014 के चुनाव में पूर्व स्वयं प्रधानमंत्री जी ने अपने भाषण में निबंध चीनी मिलों को चलाकर अच्छे दिन लाने का वादा किया था वह झूठा निकला आज महामारी के संकट से इन मजदूरों और किसानों की हालत बद से बदतर हो गई है उन्हें रोड रोजी-रोटी से जुड़ने के लिए यदि चीनी मिलों को चलाकर श्रमिकों को रोजगार दे दिया जाए तो उनका उनके रोजी-रोटी की समस्या का हल हो सकता है क्योंकि इन बंद चीनी मिलों के पास पर्याप्त जमीन एवं संसाधन मौजूद होने के कारण उद्योग को गतिशील करने में देरी नहीं होगी श्रमिकों को तत्काल रोजगार से जोड़ा जा सकता है अतः अपेक्षा है की तत्काल उत्तर प्रदेश की सरकार इस दिशा में कार्य करें यदि सरकार इन मजदूरों एवं किसानों के लिए बंद चीनी मिलों को चलाने की दिशा में ठोस कदम नहीं उठाती है तो माना जाएगा कि भाजपा सरकार पूरी तरह से किसान एवं मजदूर विरोधी है जिसके लिए समाजवादी पार्टी आंदोलन करने को बाध्य होगी और इन श्रमिकों के रोजी-रोटी से जोड़ने वाली लड़ाई को सड़क से सदन तक लड़ने का काम करेगी उक्त बातें रुद्रपुर विधानसभा के राजू प्रजापति ने कहीं।

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (3 )