BREAK NEWS

चिदंबरम बोले:देश में है तो सब लेकिन सरकार देना नहीं चाहती

चिदंबरम बोले:देश में है तो सब लेकिन सरकार देना नहीं चाहती

कोरोना वायरस की चुनौती के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में लॉकडाउन तीन मई तक बढ़ाने का ऐलान किया है. पीएम ने राष्‍ट्र के नाम अपने संबोधन में मंगलवार को यह भी कहा कि जो राज्‍य कोरोना वायरस के खिलाफ सख्‍ती रखते हुए अपने शहरों/क्षेत्रों में हॉटस्‍पॉट (कोराना वायरस से सर्वाधिक प्रभावित क्षेत्र) नहीं बनने देंगे, वहां 20 अप्रैल के बाद से जरूरी गतिविधियों की इजाजत दी जाएगी. उन्‍होंने कहा कि कल यानी बुधवार को सरकार कल इस बारे में सरकार विस्‍तृत गाइड लाइन जारी की जाएगी. उन्‍होंने स्‍पष्‍ट किया कि 20 अप्रैल को सीमित छूट का ध्‍यान गरीबों को ध्‍यान में रखते हुए किया गया है. लॉकडाउन बढ़ाने के पीएम के ऐलान के बीच कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम ने ‘गैरजरूरी’ रिएक्‍शन दिया है. चिदंबरम ने ट्वीट किया, ‘गरीबों को 21+19=40 दिन के लिए अपना इंतजाम खुद करने के लिए छोड़ दिया गया. धन है, भोजन है लेकिन सरकार वह देगी नहीं. रोओ, मेरे प्यारे देश.’
The poor have been left to fend for themselves for 21+19 days, including practically soliciting food. There is money, there is food, but the government will not release either money or food.

एक अन्‍य ट्वीट में चिदंबरम ने कहा, ‘मुख्‍यमंत्रियों की धनराशि की मांग पर कोई प्रतिक्रिया नहीं, आई. 25 मार्च के ‘कंजूरीभरे’ पैकेज में एक रुपया भी नहीं जोड़ा गया. रघुराम राजन से जीन ड्रीज , प्रभात पटनायक से अभिजीत बनर्जी तक, सलाहों पर ध्‍यान नहीं दिया गया.’ हालांकि चिदंबरम ने लॉकडाउन को आगे बढ़ाने के केंद्र सरकार के फैसले का समर्थन किया.

We reciprocate the PM’s New Year greetings. We understand the compulsion for extending the lockdown. We support the decision

पीएम ने राष्‍ट्र के नाम अपने संबोधन में मंगलवार को यह भी कहा कि जो राज्‍य कोरोना वायरस के खिलाफ सख्‍ती रखते हुए अपने शहरों/क्षेत्रों में हॉटस्‍पॉट (कोराना वायरस से सर्वाधिक प्रभावित क्षेत्र) नहीं बनने देंगे, वहां 20 अप्रैल के बाद से जरूरी गतिविधियों की इजाजत दी जाएगी. गौरतलब है कि पीएम ने अपने संबोधन में कहा कि कोरोना के खिलाफ भारत की लडाई मजबूती के साथ आगे बढ़ रही है. आप सभी देशवासियो की तपस्‍या और त्‍याग की वजह से भारत अब तक कोरोना से होने वाले नुकसान को काफी हद तक कम करने में सफल रहा है.इस दौरान प्रधानमंत्री ने स्‍पष्‍ट किया कि विभिन्‍न राज्‍यों से मिले सुझावों को ध्‍यान में रखते हुए लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ाया गया है.

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )