BREAK NEWS

बनारस ने तोड़ा कोरोना चक्रव्यूह

बनारस ने तोड़ा कोरोना चक्रव्यूह

तब्लीगी जमात से लेकर मुंबई समेत अन्य महानगरों से आए प्रवासियों के जरिए कोरोना के आक्रमण को कुंद कर दिया। इसमें कई ऐसे मरीज भी थे जो गंभीर बीमारियों से ग्रसित थे। वहीं, कुछ ऐसे भी थे नाम व पता छिपाकर रिश्तेदारों के मकान में दुबके थे। दिल्ली व मुंबई में बिगड़े हालात के प्रवाह को लेकर यहां जरूर पहुंचे लेकिन जिला प्रशासन की रणनीति और स्वास्थ्य कर्मियों की मुस्तैदी ने कोरोना वायरस के इरादे पर पानी फेर दिया। जनपद में गुरुवार तक कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 252 हो गई।

इसमें 169 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। एक्टिव मरीजों की संख्या 78 ही रह गई है। इसमें 18 तब्लीगी जमाती व उसके संपर्की हैं तो 97 प्रवासी जिसमें सर्वाधिक संख्या 79 मुंबई से आए प्रवासियों की है। इसमें तब्लीगी जमात से जुड़े सभी लोग स्वस्थ हो चुके जबकि प्रवासियों में अधिकतर डिस्चार्ज हो गए।

अब तक 7413 नमूने जांच को गए

जनपद में कोरोना वायरस से 5 की मौत हो चुकी है। बीएचयू के माइक्रोबायोलॉजी लैब में अब तक 7413 नमूने जांच को गए जिनमें 7011 सैंपल का परिणाम प्राप्त हो चुका है। इनमें 202 नमूनों के परिणाम आने शेष हैं। इस दौरान 252 नमूने कोरोना पॉजीटिव मिले जबकि 6759 नमूने निगेटिव पाए गए।

अस्‍पतालों में आइसोलेशन क्षमता-
वहीं बीएचयू में आइसोलेशन क्षमता 67 है जबकि जिला अस्पताल में 54 है। इसके अलावा एलबीएस रामनगर में दस, शिवपुर पीएचसी में चालीस, पूर्वोत्तर रेलवे के अस्‍पताल में 100, उत्तर रेलवे के अस्‍पताल में 25 तथा एचआइएमएस (हेरिटेज) में 700 की आइसोलेशन क्षमता है।

अस्‍पतालों में आइसीयू-वेंटिलेटर बेड-
बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्‍पताल में 16 बेड की व्‍यवस्‍था है तो ट्रामा सेंटर में 27 बेड हैं। वहीं हेरिटेज मेडिकल कालेज में 8 बेड और प्राइवेट अस्पताल 160 बेड उपलब्‍ध हैं। यहां भर्ती होने वाले मरीजों को हर दिन सुविधा मुहैया कराई जाती है ताकि वह जल्‍द स्‍वस्‍थ हो सके। मरीज को 8-9 बजे सुबह नाश्ता दिया जाता है। इसमें मौसमी फल, एक गिलास दूध, पूड़ी व सब्जी शामिल होती है। इसके अलावा 1000 एमजी विटामिन सी भी दी जाती है और सुबह 10 बजे 15-20 मिनट धूप सेंकाई होती है। 1-2 बजे दोपहर में भोजन दिया जाता है जिसमें दाल, रोटी, सब्जी, चावल, सलाद शामिल होती है। वहीं रात में 8-9 बजे सब्जी, रोटी, दाल, एक गिलास दूध दिया जाता है। इसके अलावा मरीजों को रोज 1.5 लीटर गुनगुना पानी पीने के लिए दिया जाता है।

ये हैं कोरोना के लक्षण

गले में खुजली
सूखा गला
सूखी खांसी
उच्च तापमान
सांस की तकलीफ
गंध, स्वाद व सुनने की क्षमता की हानि

यहां से आए इतने प्रवासी कोरोना मरीज

79 मुंबई से
02 कोलकाता से
02 पुणे से
03 अहमदाबाद से
04 दिल्ली से
01 चेन्नई से
03 सूरत से
01 फरीदाबाद से
01 गाजियाबाद से
01 राजस्थान से

UPDATE BY : ANKITA

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )