BREAK NEWS

धम्म लोक ट्रस्ट के संस्थापक धम्मचारी बोधिसागर की अस्थि कलश को धम्मलोक महाविहार (सारनाथ )में किया गया स्थापित।

धम्म लोक ट्रस्ट के संस्थापक धम्मचारी बोधिसागर की अस्थि कलश को धम्मलोक महाविहार (सारनाथ )में किया गया स्थापित।

वाराणसी : बौद्ध महासंघ तथा बहुजन हिताय ट्रस्ट पुणे के तत्वाधान में धम्म लोक महाविहार सारनाथ में धम्म लोक ट्रस्ट के संस्थापक तथा पूर्व अध्यक्ष धम्मचारी बोधिसागर की अस्थि कलश को स्थापित किया गया ।धर्मचरिणी श्रद्धावज्री के कर कमलों द्वारा अस्थियों की स्थापना विधिवत की गई। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता धर्मचारी मणिधम्म अध्यक्ष धम्मलोक ट्रस्ट ने की। समारोह के लिए देहरादून मैनपुरी, दिल्ली, कानपुर, मऊ आजमगढ़, जौनपुर, तथा नागपुर से अनेक श्रद्धालुओं ने भाग लिया।

बोधिसागर जी के शिष्यों कि इस समारोह में भीड़ उमड़ पड़ी । बोधिसागर का जीवन साक्षात बोधिसत्व जैसे समर्पित था । ऐसे विचार देश विदेश के मान्यवरों ने व्यक्त किए तथा अपनी शोक संवेदना व्यक्त किए। धम्ममित्र डॉक्टर सुनील कुमार ने कहा बोधी सागर अपने जीवन में बहुत सारे बहुआयामी काम के लिए उत्तर भारत में जाने जाते हैं जैसे सारनाथ कौशांबी मोदीनगर उत्तराखंड में उन्होंने एक दर्जन पुस्तकालयों का हॉस्टल का बिहार का एवं मंदिरों का उन्होंने निर्माण करवाया।

धर्म, शिक्षा एवं संस्कृति के काम को आत्मसात करते हुए वह इस भारतीय बौद्ध समाज को बहुत कुछ देकर चले गए। इंग्लैंड के धम्मचारी लोकमित्र ने कहा बोधिसागर की अस्थियों का सारनाथ में स्थापित होना सदैव हमारे लिए प्रेरणा स्रोत रहेगा ।

इसमें मुख्य रूप से बोधिसत्व बोधि सागर की धर्मपत्नी सुकन्या जी बोधी प्रकाश दिल्ली से, शाक्यकेतु कानपुर से कर्मादित्य देहरादून से, भंते महाकश्यप ,राकेश भारद्वाज डॉक्टर आनंद यादव ,डॉक्टर संतोष कुमार, मुरारी लाल जी ,तथा छेदी और संजय मुख्य रूप से विचार व्यक्त किए।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (2 )