BREAK NEWS

ठंड ने बढ़ाई नाविक और पुरोहितों की परेशानी, रोजी-रोटी पर छाया संकट

वाराणसी : उत्तर भारत में ठंड का सितम जारी है। हांड़ कंपा देने वाली ठंड से आम जनजीवन पूरी तरह बेहाल है। पर्यटकों और श्रद्धालुओं से गुलजार रहने वाले वाराणसी के घाटों पर भी ठंड के कारण सन्नाटा पसरा हुआ है। बनारस के घाटों पर पर्यटकों और श्रद्धालुओं की आवाजाही में कमी के कारण गंगा तट पर पूजा अनुष्ठान कराने वाले पुरोहितों के अलावा नाविकों के आगे फिर रोजी- रोटी का संकट खड़ा हो गया है।

दरअसल वाराणसी में पिछले तीन दिनों से लगातार गिरते तापमान के कारण गंगा में स्नान करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में बेहद कमी आई है। दूसरी,तरफ सुबह घने कोहरे और दिनभर बर्फिली हवाओं के चलते हांड़ कंपा देने वाले ठंड के कारण गंगा की लहरों में नौकायन करने वाले पर्यटकों की संख्या भी आधे से कम हो गई है। वाराणसी के 84 घाटों पर लगभग एक सी स्थिति है। लॉकडाउन और बाढ़ के बाद अब ठंड ने नाविक और पुरोहितों की परेशानी बढ़ा दी है।

पर्यटकों की कमी से खड़ीं हैं नाव
वाराणसी के अस्सी घाट पर पर्यटकों को गंगा की सैर कराने वाले सोनू मांझी ने बताया कि पिछले 2 दिनों से बढ़े ठंड के कारण वाराणसी के घाटों पर न सिर्फ सन्नाटा है बल्कि पर्यटकों की आवाजाही भी बेहद कम हो गई है। दोपहर के समय ही कुछ पर्यटक घाटों का रूख कर रहे हैं। सुबह और शाम सन्नाटा ही पसरा है। ठंड के कारण व्यवसाय भी ठप पड़ा है।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )