BREAK NEWS

कोरोना मरीजों को जल्द मिलेगी संजीवनी! आज देर रात बोकारो से वाराणसी पहुंच रही मेडिकल ऑक्सीजन की बड़ी खेप

कोरोना मरीजों को जल्द मिलेगी संजीवनी! आज देर रात बोकारो से वाराणसी पहुंच रही मेडिकल ऑक्सीजन की बड़ी खेप

वाराणसी : कोरोना संकट के बीच वाराणसी के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन को लेकर त्राहि-त्राहि मची हुई है। कई बड़े अस्पताल मेडिकल ऑक्सीजन की किल्लत से जूझ रहे हैं जिस कारण कोरोना मरीजों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वाराणसी पर आए इस संकट के बीच सूबे की योगी सरकार व प्रशासन ने मोर्चा संभाला है।

वाराणसी शहर में 24 घण्टे के अंदर ऑक्सीजन की किल्लत दूर हो जाएगी। शुक्रवार की रात 12 बजे तक 20 टन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (एलएमओ) पहुंच जाएगा। इसे लेकर बोकारो प्लांट से ऑक्सीजन एक्सप्रेस रवाना हो चुकी है। ट्रेन के आगमन से पूर्व पुलिस ए. सतीश गणेश सहित अन्य आलाधिकारियों ने कैंट स्टेशन स्थित वाशिंगलाइन में बने अनलोडिंग पॉइंट का जायजा लिया।

वाराणसी में बनकर तैयार रैंप की जानकारी रेल अफसरों से ली। रैंप साइडिंग में ट्रेन का रैक लगने और ट्रक कंटेनर को बाहर निकाले जाने पर चर्चा हुई। उन्होंने अधीनस्थों को टैंकर अनलोडिंग के दौरान मौके पर फोर्स लगाने का निर्देश दिया। यहां उतरने के बाद एक टैंकर सुरक्षा घेरे में रामनगर ऑक्सीजन प्लांट तक भेजा जाएगा। अपर मंडल रेल प्रबंधक रवि प्रकाश चतुर्वेदी ने बताया कि ऑक्सीजन एक्सप्रेस देर रात 12 बजे तक कैंट स्टेशन पहुंचने की उम्मीद है। लोडेड रैक बोकारो से वाराणसी पहुंचने में 12 घण्टे का समय लग सकता है।

प्रशासन के माथे पर चिंता की लकीरें

दरअसल गुरुवार को विभिन्‍न अस्‍पतालों में कुछ ही घंटों के लिए आक्‍सीजन शेष बचा हुआ था जिसकी वजह से प्रशासन भी सकते में आ गया। आनन फानन कुछ वैकल्पिक व्‍यवस्‍था कर गैस का इंतजाम किया गया। इसके बाद से ही लगातार प्रशासन की नजर आक्‍सीजन ट्रेन पर लगी हुई है। ट्रेन रात में आने के बाद तत्‍काल उसे संबंधित केंद्रों को भेजने के लिए प्रयास शुरू हो जाएगा। इसके बाद उम्‍मीद है कि शनिवार से आक्‍सीजन की किल्‍लत पूरी तरह से वाराणसी और आसपास से खत्‍म हो जाएगी। प्रशासन की इसके बावजूद निगाह अस्‍पतालों में बेड बढ़ाने और आक्‍सीजन उपलब्‍ध कराने पर लगी हुई है।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )