BREAK NEWS

कल सुबह 10 बजे PM मोदी करेंगे बड़ा एलान

कल सुबह 10 बजे PM मोदी करेंगे बड़ा एलान

देश में कोरोनावायरस का कहर जारी है. भारत में 9 हजार से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं और 300 से ज्यादा की अब तक मौत हो चुकी है. कोरोना के कहर को देखते हुए देश में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन जारी है. इसे बढ़ने के भी संकेत मिलते दिख रहे हैं. उधर, जिन इलाकों में कोरोना के कम मामले हैं वहां सरकार लॉकडाउन को धीरे-धीरे खत्म पर भी विचार कर रही है.

इसके साथ-साथ दवा के प्रोडक्शन यूनिट को भी मंजूरी मिलने पर सहमित बनती दिख रही है. बस, रेल सेवा और हवाई यात्रा में हालांकि फिलहाल कोई छूट मिलने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं. वहीं, जिन इलाकों को कोरोना हॉटस्पॉट घोषित किया गया है, वहां किसी भी तरह की कोई रियायत मिलने के संकेत नहीं मिल रहे हैं. बाकी इलाकों में प्रोडक्शन की इजाजत मिल सकती है.

सूत्रों ने बताया कि राज्यों को भी फैसले का अधिकार दिया जाएगा. हालांकि राज्यों ने केंद्र पर ही इसका फैसला छोड़ा है. बता दें कि देश के 18 राज्यों के 91 जिलों में 80% कोरोना के मामले हैं. दिल्ली, मुम्बई, इंदौर और पुणे पर ज़्यादा नज़र और निगरानी है. यहां के मामलों में कमी के बाद ही सही तरह से आकलन होगा. अनुमान लगाया जा रहा है कि मई के पहले हफ्ते के बाद हालात बेहतर हो पाएगा. जमाती के मामलों के कॉन्टेक्ट्स के बाद हालात का मूल्यांकन बेहतर हो पाएगा. रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट किट का अब भी है इंतज़ार किया जा रहा है. वहीं, 1 लाख बेड्स फिलहाल देशभर के हॉस्पिटल में तैयार हैं.
इसके साथ-साथ 20% मरीजों को ही ऑक्सीजन या वेंटीलेटर की ज़रूरत बताई जा रही है.

उधर, लॉकडाउन हटाने के लिए कई चरणों में काम शुरू हो गया है. इसके लिए देश को तीन जोन में बांटे जाने की कवायद शुरू की जा रही है. इसके तहत ग्रीन, ऑरेंज और रेड जोन बनाए जा रहे हैं. लॉकडाउन को इन्हीं जोन के हिसाब से लागू किया जाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुख्यमंत्रियों की चार घंटे की मैराथन बैठक में चाहे लॉकडाउन दो हफ्ते बढ़ाने पर सहमति बनी हो, लेकिन यह भी आम राय है कि इसे धीरे-धीरे हटाया जाए. पीएम ने ‘जान भी, जहान भी’ की बात कहकर साफ कर दिया है कि वे कोरोना से लोगों की जान बचाने के साथ ही उनकी आजीविका और अर्थव्यवस्था को भी बचाना चाह रहे हैं. अब चरणबद्ध ढंग से एक-एक कर कदम बढ़ाया जाएगा.

उन्होंने बताया कि लॉकडाउन खत्‍म करने की योजना के बारे में बात करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि लॉकडाउन दो सप्ताह और बढ़ाने पर राज्यों के बीच आम सहमति बनती दिख रही है. मोदी ने कहा, ‘लॉकडाउन की घोषणा करते हुए मैंने कहा था, ‘जान है तो जहान है. देश के अधिकतर लोगों ने इसे समझा और घरों के भीतर रहने की जिम्मेदारी का पालन किया. अब एक और आयाम ‘जान भी, जहान भी’ पर भी ध्यान देने की जरूरत है, जो भारत के ‘उज्ज्वल भविष्य, समृद्धि एवं स्वस्थ भारत’ के लिए जरूरी है

प्रधानमंत्री के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरिवंद केजरीवाल ने लॉकडाउन को कम से कम एक पखवाड़े के लिए बढ़ाने का सुझाव दिया. कोविड-19 संकट से निपटने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले महीने 21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की थी, जिसकी अवधि 14 अप्रैल तक है. पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने बैठक में बताया कि उनकी सरकार ने एक मई तक कर्फ्यू लगाए रखने या पूरी तरह बंद लागू करने का पहले ही निर्णय ले लिया है। सभी शिक्षण संस्थान 30 जून तक बंद रहेंगे.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सुझाव दिया कि देशभर में लागू लॉकडाउन की अवधि 30 अप्रैल तक बढ़ाई जानी चाहिए. सरकारी बयान के अनुसार, मुख्यमंत्रियों ने महामारी के खिलाफ इस लड़ाई में अपने संसाधनों को बढ़ाने के लिए केंद्र से वित्तीय और राजकोषीय सहायता भी मांगी. बयान के अनुसार, प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र और राज्यों के संयुक्त प्रयासों से कोविड-19 के प्रभाव को कम करने में निश्चित रूप से मदद मिली है, लेकिन चूंकि स्थिति तेजी से परिवर्तित हो रही है, इसलिए निरंतर सतर्कता सर्वोपरि है.

मोदी ने इस बात पर विशेष बल दिया कि वायरस को फैलने से रोकने के लिए अब तक उठाए गए कदमों के प्रभाव का पता लगाने के लिए अगले 3-4 सप्ताह अत्‍यंत महत्वपूर्ण हैं और इस चुनौती का सामना करने के लिए टीम के रूप में काम करना अत्‍यंत आवश्‍यक है.

प्रधानमंत्री ने आश्वासन दिया कि भारत में आवश्यक दवाओं की पर्याप्त आपूर्ति है और इस लड़ाई में सबसे आगे रहने वाले सभी कर्मियों के लिए सुरक्षात्मक उपाए और महत्वपूर्ण उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं. उन्होंने कालाबाजारी और जमाखोरी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का संदेश दिया.

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )